Varieties

Information On Seed Varieties

डीबीडबल्यू 303 (करण वैष्णवी)

गेहूं की किस्म डीबीडब्ल्यू 303 को 2021 मे अधिसूचित किया है।

भारत के उत्तर पश्चिमी मैदानी क्षेत्र के सिंचित क्षेत्र में अगेती बुआई वाली खेती के लिए इस में पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान (कोटा और उदयपुर डिवीजन को छोड़कर) और पश्चिमी उत्तरप्रदेश (झांसी डिवीजन को छोड़कर), जम्मू-कश्मीर (जम्मू और कठुआ जिले), हिमाचल प्रदेश (ऊना जिला और पांवटा घाटी) और उत्तराखंड (तराई क्षेत्र) के कुछ हिस्सों को शामिल किया गया है ।

अगेती बुआई का समय- 25 अक्टूबर से 5 नवंबर तक

अगेती बुवाई व 150 %  एन पी के के प्रयोग पर वृद्धिनियंत्रकों क्लोरमाक़्वेटक्लोराइड (CCC) @ 0.2% + टेबुकोनाजोल 250 ई सी @ 0.1% का दो बार छिड़काव (पहले नोड पर और फ्लैग लीफ) इस किस्म में अधिक लाभकारी है। वृद्धि नियंत्रकों की 100 लीटर पानी में 200 मिली लीटर क्लोरमाक़्वेटक्लोराइड और 100 मिलीलीटर टेबुकोनाजोल  (वाणिज्यिक उत्पाद मात्रा टैंक मिक्स) प्रति एकड़ मात्रा का प्रयोग करें।

औसत उपज- 81.2 क्विंटल/हे

डीबीडबल्यू 187 करण वंदना

विमोचन एवं अधिसूचना वर्ष : 2019 (NEPZ) 2020 & 2021 (NWPZ)
यह प्रजाति पंजाब हरियाणा दिल्ली राजस्थान (कोटा और उदयपुर डिवीजनों को छोड़कर) पश्चिमी उत्तर प्रदेश (झांसी मंडल को छोड़कर) हिमाचल प्रदेश (ऊना व पाटा घाटी)  जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों (जम्मू और कठुआ जिले) और उत्तराखंड (तराई क्षेत्र) के सिंचित क्षेत्रो में समय पर से बुआई के लिए ऊपयूक्त है।

यह किस्म सिंचित समय पर बुवाई की स्थिति मे उत्तर-पूर्वी राज्यों के मैदानी इलाकों इस में मध्य और पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल की के लिए अनुशंसित है।
बुआई का समय: अगेती बुवाई- 25 अक्टूबर से 5 नवंबर

समय पर बुवाई- 5 नवंबर से 25 नवंबर

25 अक्टूबर की अगेती  बुवाई वाले एचवाईपीटी स्थिति जिसमे 150% एनपीके (225 किलो नाइट्रोजन: 90 किलो फॉस्फोरस : 60 किलोग्राम पोटाश  प्रति हैक्टर) और वृद्धिनियंत्रकों क्लोरमाक़्वेटक्लोराइड (CCC) @ 0.2% + टेबुकोनाजोल 250 ई सी @ 0.1% का दो बार छिड़काव (पहले नोड पर और फ्लैग लीफ) लाभकारी है। वृद्धि नियंत्रकों की 100 लीटर पानी में 200 मिली लीटर क्लोरमाक़्वेटक्लोराइड और 100 मिलीलीटर टेबुकोनाजोल  (वाणिज्यिक उत्पाद मात्रा टैंक मिक्स) प्रति एकड़ मात्रा का प्रयोग करें।

डीबीडबल्यू 222 करण नरेन्द्र

विमोचन एवं अधिसूचना वर्ष : 2020
सिंचित समय पर बुवाई की स्थिति के लिए पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान (कोटा और उदयपुर मंडल को छोड़कर) और उत्तर प्रदेश (झांसी मंडल को छोड़कर), हिमाचल प्रदेश (ऊना व पाटा घाटी), जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों (जम्मू और कठुआ जिले) और उत्तराखंड (तराई क्षेत्र) के लिए ऊपयूक्त है।

बुवाई का समय- 5 नवंबर से 25 नवंबर

औसत उपज- 61.3क्विंटल/हे.

डीडबल्यूआरबी 137 (छ: पंक्ति खाद्य एवं पशु आहार जौं)

विमोचन एवं अधिसूचना का वर्ष: 2018
सिंचित दशाओ में समय से बुआई के लिए उपयुक्त
बुआई का समय: 10 नवम्बर से 25 नवम्बर.
पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, गुजरात छत्तीसगढ़, राजस्थान के कोटा एवं उदयपुर मण्डल.
पकने की अवधि: 115 दिन
मजबूत तना

DBW 303 (Karan Vaishanavi)

Released and Notified in the year 2021
Recommended for commercial cultivation in North Western Plains Zone (NWPZ) of India which is comprised the status of Punjab, Haryana, Delhi, Rajasthan (except Kota and Udaipur divisions), Western Uttar Pradesh (except Jhansi division), Parts of Jammu and Kashmir (Jammu and Kathua Distt.), Parts of Himachal Pradesh (Una Distt. and Paonta Valley) and Uttrakhand (Tarai region).
Early sown (25th October -5th November) and High fertility condition (150 %  of RFD and spraying of plant growth regulators Chlormequat chloride @0.2% + Tebuconazole 250 EC@ 0.1% at First node formation and Flag leaf initiation) (Add 200 ml of Chlromequat chloride + 100 ml Tebuconazole 250 EC in 100 liter of Water per acre )
Average yield- 81.2 q/ha

DBW187 (Karan Vandana)

Released and notified in 2019
Recommended for Irrigated timely sown conditions of NEPZ comprising of central and eastern UP, Bihar, Jharkhand, West Bengal and plains of North-Eastern states).

Recommended for early and timely sown in NWPZ  comprising of Punjab, Haryana, Delhi, Rajasthan (except Kota and Udaipur divisions) and Western U.P. (except Jhansi division), Jammu and Kathua dist of Jammu and parts of H.P. (Una dist. and Paonta valley) and Uttrakhand (Tarai region).

Early Sown- 25th October to 5th November
Timely Sown- 5th November to 25th November
Early sown (25th October -5th November) and High fertility condition (150 %  of RFD and spraying of plant growth regulators Chlormequat chloride @0.2% + Tebuconazole 250 EC@ 0.1% at First node formation and Flag leaf initiation) (Add 200 ml of Chlromequat chloride + 100 ml Tebuconazole in 100 liter of Water per acre)

DBW222 (Karan Narendra)

Released and notified in 2020
Recommended for Irrigated Timely Sown Conditions of Punjab, Haryana, Delhi, Rajasthan (except Kota and Udaipur divisions) and Western U.P. (except Jhansi division), Jammu and Kathua dist of Jammu and parts of H.P. (Una dist. and Paonta valley) and Uttrakhand (Tarai region)
Strong stem strength and lodging tolerance
Sowing time- 5th November to 25th November
Average Yield:  61.3 q/ha

DWRB 137 (Six Rowed Feed Barley)

Release and Notified in 2018
Irrigated Timely Sown Conditions
Recommended for (CZ & NEPZ) Eastern Uttar Pradesh, Bihar, Jharkhand, Madhya Pradesh, Gujarat, Chhattisgarh, Kota and Udaipur divisions of Rajasthan
Maturity duration: 115 days
Lodging tolerance

Translate »